सोलर पैनल क्या है? | सोलर पैनल बनाने व जोड़ने की विधि

By | October 3, 2023

Solar Panel Kya Hai:- बिजली हमारे रोजमर्रा के जीवन की सबसे बड़ी आवश्यकता बन चुकी है। इसलिए विद्युत उर्जा उत्पन्न करने की नवीनीकरण प्रक्रिया पर तेजी से काम हो रहा है। विद्युत ऊर्जा आमतौर पर कोयले या पानी जैसी चीजों पर बनती थी, मगर इनके खत्म होने का खतरा है जिस वजह से विद्युत ऊर्जा का ऐसा नवीनीकरण किया गया जिसमे सौर ऊर्जा, और हवा जैसी कभी न खत्म होने वाली चीजों से बिजली बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई। वर्तमान समय में इस नवीनीकरण प्रक्रिया में सौर ऊर्जा से विद्युत बनाने की प्रक्रिया लोकप्रिय है। जब हम सौर ऊर्जा से विद्युत बनाते हैं तो इसके लिए जिस यंत्र की आवश्यकता होती है उसे सोलर पैनल कहा जाता है। आपने जरूर अपने रोजमर्रा के जीवन में सोलर पैनल शब्द सुना होगा मगर क्या आप जानते हैं सोलर पैनल क्या है? सोलर पैनल कैसे काम करता है? और ऐसी कौन सी वस्तु सोलर पैनल के अंदर होती है, जिस वजह से सौर ऊर्जा विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित हो पाती है। 

भारत हर राज्य के छोटे से छोटे क्षेत्र तथा विद्युत सुविधा पहुंचाने के लिए सोलर पैनल का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस वजह से यह आवश्यक हो गया है कि solar panels kya hai और सोलर पैनल अच्छा है या बुरा इसे कैसे पहचानते हैं इसकी समझ हर व्यक्ति तक पहुंचे। इस वजह से आज का लेख लिखा गया है जिसमें हम आपको सोलर पैनल से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी विस्तार पूर्वक सरल शब्दों में देने जा रहे हैं। 

About ArticleSolar Panel Kya Hai
Year2022
StatesAll States
Solar Panel Subsidy YojanaClick Here
Solar Panel Mfd. Company Tata, luminous, Patanjali, Microteach
Central Government Solar Energy Portalhttps://solarrooftop.gov.in/

Solar Panels Kya Hai

सोलर पैनल एक यंत्र है जो सेमीकंडक्टर की मदद से सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने का कार्य करता है। यह एक ऐसा उपकरण होता है जिसे कार्य करने के लिए डीजल पेट्रोल जैसे किसी भी प्रकार के इंधन की आवश्यकता नहीं होती है यह केवल सूर्य की ऊर्जा पर काम करता है।

सूरज की रोशनी से विद्युत ऊर्जा की उत्पत्ति हो सकती है इसका सबसे पहले पता विलफ्लि स्मिथ ने 1873 में लगाया था। उसके कुछ सालों बाद एक फ्रांस के वैज्ञानिक वैज्ञानिक एडमंड बैकेलल ने पहली बार सोलर पैनल नाम के शब्द को सबके समक्ष रखा और एक उपकरण से सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करके दिखाया। 

सोलर पैनल कैसे बनाएं

सोलर पैनल बहुत सारे सोलर सेल से मिलकर बनता है। उस सोलर सेल में सिलिकॉन जैसे सेमीकंडक्टर होते है जिन्हें खास तरीके से अरेंज किया जाता है और कुछ अन्य पदार्थ जैसे फास्फोरस के साथ मिलाकर एक सेल का निर्माण किया जाता है ताकि जब उस सेल पर सूरज की किरण गिरे तो इलेक्ट्रॉन अपनी कक्षा से बाहर जा सके और विद्युत ऊर्जा का निर्माण कर सकें। सोलर पैनल में इस्तेमाल होने वाले सोलर सेल फोटोवोल्टिक इफेक्ट पर काम करता है।

एक सोलर सेल के अंदर सोलर सेल, ग्लास, EVA, बैकशीट और फ्रेम जैसे अलग-अलग प्रकार की चीजें होती है जो एक साथ मिलकर एक सोलर पैनल का निर्माण करती है। सोलर पैनल को आप घर में भी तैयार कर सकते है मगर उससे काफी कम विद्युत ऊर्जा उत्पन्न होगी। 

सोलर पैनल जोड़ने की विधि | How to Connect Solar Panels

सबसे पहले आप जिस घर के लिए सोलर पैनल की सुविधा लेना चाहते हैं उसका अच्छे से निरीक्षण करें अर्थात उस जगह को चुने जहां दिन के वक्त उचित सूर्य ऊर्जा मिलती हो। आप अपने छात्र का वह हिस्सा चुने जहां सूर्य ऊर्जा मिलती हो और उसके बाद नीचे दिए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें – 

  • सबसे पहले ऊंची जगह पर आपको एक उचित स्थान ढूंढना है जहां आप सोलर पैनल रख सके और वहां से तार को पूरे घर में लेकर जाना है। 
  • आप के चुने हुए स्थान से तार लेकर पूरे घर में जाइए, अब जितने यंत्र को सोलर पैनल पर चलाना चाहते हैं उनके साथ लगने वाले उचित दार को जोड़ते हुए पूरे घर में वायरिंग करिए।
  • सोलर पैनल को उस स्थान पर रखिए जहां से आपने तार निकाला था। ध्यान रहे सोलर पैनल ले जाने के दौरान कहीं टकराना नहीं चाहिए यह बहुत ही नाजुक होता है।
  • सोलर पैनल को रखकर चेक करें कि कहीं उसके ऊपर परछाई तो नहीं आ रही है। किसी भी प्रकार का छाया सोलर पैनल पर नहीं पड़ना चाहिए उसके ऊपर सूरज की रोशनी सीधी गिरनी चाहिए। 
  • अगर आप सोलर पैनल को अपने छात्र की दीवार पर फिट करना चाहते है तो इसके लिए सोलर पैनल की लंबाई और चौड़ाई करना प्ले और उस नाम को दीवाल पर रख कर गड्ढा कर ले, और wall mounted stand की मदद से सोलर पैनल को दीवाल पर फिट करें। 
  • अब आपको एक 6mm के wire को MC4 कनेक्टर के साथ जोड़ देना है। ध्यान रखिए का वायर इतना लंबा हो कि भविष्य में कभी अगर सोलर पैनल के पोजीशन को चेंज करना पड़े तो इसी wire से काम हो जाए।
  • अब सोलर पैनल के तार को इनवर्टर और बैटरी के साथ जोड़ देना है। सोलर पैनल के तार को बैटरी के साथ और बैटरी के तार को इनवर्टर के साथ कनेक्ट करने के बाद चार्ज कंट्रोलर के इनपुट को घर के पावर सर्किट में जोड़ दें, इसके बाद घर में इस्तेमाल हुए इनवर्टर वायर को इनवर्टर के आउटपुट में डाल देंगे। 
  • अब इसके बाद आपको अपने घर का मेन पावर बोर्ड या पावर सर्किट ओपन करना है और इनवर्टर से आए हुए तार को यहां कनेक्ट करना है ताकि लाइट के जाने पर भी आपके द्वारा सोलर कनेक्शन दिया हुआ हर इक्विपमेंट अपने आप जलने लगे। 
  • अब आपको अपने घर का मेन MCB गिरा देना है और उसके बाद इनवर्टर को चालू करना है। अगर आपका कनेक्शन सही तरीके से हुआ है तो MBC गिरे रहने के बावजूद आपका कनेक्शन दिया हुआ सामान अच्छे से काम करेगा। 
  • सभी कनेक्शन निर्देश अनुसार पूरा होने के बाद साफ सफाई करके अपने सोलर पैनल का इस्तेमाल करना शुरू करें। 

सोलर पैनल के अंदर क्या होता है?

सोलर पैनल बहुत सारे छोटे छोटे सोलर सेल से बना हुआ होता है। एक सोलर सेल में सिलिकॉन की परत होती है जिसमें फास्फोरस नेगेटिव चार्ज पैदा करने के लिए और बोरोन पॉजिटिव चार्ज पैदा करने के लिए होता है। इस तरह के बहुत सारे सोलर सेल आपस में मिलकर एक बड़ा सा सोलर पैनल बनाते हैं।

आजकल कार्बन के कुछ पदार्थ का इस्तेमाल करके भी सोलर पैनल बनाया जा रहा है जो सोलर पैनल में आई एक नवीनीकरण प्रक्रिया है। इस तरह के अलग-अलग प्रक्रियाओं से भी सोलर पैनल बनाया जाता है मगर वर्तमान समय में सबसे प्रचलित सोलर पैनल सिलिकॉन की परत से तैयार किया जाता है। 

भारत में सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी | Best Solar Panel Company

अगर आप सोलर पैनल की तलाश कर रहे है तो हम आपको बता दें कि भारत में सोलर पैनल बनाने वाली अलग-अलग प्रकार की कंपनी है। उनमें से भारत की सबसे प्रचलित सोलर पैनल कंपनी की सूची नीचे दी गई है – 

  • TATA
  • Luminous
  • Microtek
  • Vikram Solar
  • Waaree Solar
  • Patanjali Solar

Solar Panel Kya Hai FAQ’s

Q. सोलर पैनल क्या है?

सोलर पैनल अलग-अलग सोलर सेल के साथ मिलकर बनता है जो एक ऐसा उपकरण होता है जिसकी मदद से हम सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित कर सकते है।

Q. सोलर पैनल का खोज किसने किया था?

सोलर पैनल का खोज विलफ्लि स्मिथ ने 1873 में किया था।

Q. सोलर पैनल कैसे काम करता है?

सोलर पैनल में सेमीकंडक्टर कुछ सूर्य की ऊर्जा में इस कदर अरेंज किया जाता है की फोटोवॉल्टिक इफेक्ट के कारन सूर्य की किरण से आने वाला फोटोन इलेक्ट्रॉन को उसकी कक्षा से बाहर निकाल देता है जिससे हमें विद्युत मिलता है। 

Q. सबसे अच्छा सोलर पैनल किस कंपनी का होता है?

सबसे अच्छा और भरोसेमंद सोलर पैनल टाटा कंपनी का माना जाता है जिसे आप बड़ी आसानी से उनके आधिकारिक वेबसाइट से या अपने आसपास के किसी भी सोलर पैनल डिस्ट्रीब्यूटर से खरीद सकते है। 

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको सरल शब्दों में यह समझाने का प्रयास किया इस सोलर पैनल क्या है (Solar Panel Kya Hai) इसके अलावा हमने आपको यह भी बताया कि सोलर पैनल किस प्रकार काम करता है और सोलर पैनल के जरिए किस तरह सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित कर सकते है। अगर इस लेख में बताई गई सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ने से अब सोलर पैनल के बारे में समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझाव और विचार को कमेंट में बताना ना भूलें। 

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easybhulekh.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *