मीटर चार्ज कितना होता है? मीटर रीडिंग कैसे चेक करें |How to Check Meter Reading 2024

By | February 23, 2024

Bijli Meter Charge:– आज के वक्त में बिजली हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा हैं।  इसके बिना जीवन का संचालन कर पाना संभव नहीं हैं। ऐसे में यदि आप अपने घर में बिजली का उपयोग कर रहे हैं तो आपको बिजली का मीटर लगाना आवश्यक होगा। तभी जाकर प्रत्येक महीने  बिजली का बिल आपको भेजा जाएगा।  ताकि आप सटीक बिजली बिल भुगतान कर सके।  पहले के समय बिजली का मीटर लगाने के लिए आपको बिजली विभाग के दफ्तर के चक्कर लगाने पड़ते थे।  जिसमें अच्छा खासा आपका समय बर्बाद होता था’ लेकिन आज बदलते हुए डिजिटल युग में बिजली मीटर लगाने की प्रक्रिया प्रत्येक राज्य के विद्युत बिजली विभाग के द्वारा ऑनलाइन कर दिया गया हैं। जिसके फलस्वरुप बिजली उपभोक्ता घर बैठे बिजली मीटर के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सके।  अब आप लोगों का मन में सवाल आएगा कि बिजली मीटर लगाने का चार्ज कितना देना होता है? बिजली रीडिंग कैसे की जाती है? अगर आप इन सब के बारे में नहीं जानते हैं तो आज के लेख में  Bijli Meter Rate से जुड़ी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे आर्टिकल पर बने रहिएगा चलिए जानते हैं-

Bijli Meter Charge 2024 – Overview

Name of PostBijli Meter Kitna Charge Hota Hai
1 Unit का चार्ज1000 वाट
डिपार्टमेंटबिजली विभाग
उद्देश्यबिजली मीटर लगवाना
1 यूनिट मतलब1000 वाट का उपकरण 1 घंटे तक चला है

मीटर चार्ज कितना होता है? | Bijli Metre Charge

मीटर चार्ज को दो तरीके से देखा जाता है। पहला मीटर लगवाने पर आपके घर में कितना बिजली बिल आ रहा है और दूसरा मीटर लगवाने पर आपको कितना शुल्क देना पड़ रहा है। 

अगर हम मीटर लगवाने के दौरान लगने वाले शुल्क की बात करें तो अलग-अलग राज्यों में यह शुल्क अलग अलग हो सकती है। ना जाने क्यों लोगों के मन में बिजली कनेक्शन और मीटर लगवाने की प्रक्रिया भागदौड़ से जुड़ हुई है। वर्तमान समय में किसी भी जगह बिजली मीटर लगवाना या बिजली कनेक्शन स्थापित करना बहुत ही सरल कार्य हो चुका है।

इसके लिए आपको किसी भी प्रकार की मशक्कत करने की आवश्यकता नहीं है। कुछ सरल निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करते हुए बिजली वितरण विभाग के आधिकारिक वेबसाइट से आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। जिसके 7 दिन के अंदर आपके घर पर बिजली विभाग के लोग आकर बिजली मीटर स्थापित कर देंगे।

अलग अलग राज्य में बिजली मीटर स्थापित करवाने का अलग चार्ज होता है। बिहार राज्य की बात करें तो 5 किलोवाट का लोड कनेक्शन लेने पर ₹4000 और 10 किलोवाट का लोन लेने पर ₹8000 सिक्योरिटी मनी के रूप में विद्युत वितरण संभाग के कार्यालय में जमा करवाना होगा। 

अगर हम खपत के अनुसार मीटर चार्ज की बात करें तो 0 से 50 यूनिट की खपत पर ₹3.65 पैसे प्रति यूनिट का खर्च आता है। 51 से 100 यूनिट की खपत पर ₹4.35 पैसे का खर्च आता है। उम्मीद करते हैं आप बिजली मीटर चार्ज कितना होता है समझ गए होंगे। मगर बिजली बिल कैसे आता है और मीटर कैसे लगवाएं हैं इसके बारे में जानकारी नीचे दी गई है। 

Also Read: बिजली कनेक्शन ट्रांसफर कैसे करें?

बिजली मीटर कैसे लगवा सकते है?

आप चाहे भारत के किसी भी राज्य में रहते हों, वर्तमान समय में बिजली कनेक्शन या बिजली मीटर स्थापित करने की प्रक्रिया काफी सरल कर दी गई है। आज से कुछ साल पहले विभिन्न कार्यालय के चक्कर और कुछ दस्तावेज के साथ बड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी।

वर्तमान समय में अपने इलाके के विद्युत वितरण संभाग के अधिकारिक वेबसाइट या उनके द्वारा संचालित एप्लीकेशन पर जाकर बिजली मीटर के लिए आवेदन किया जा सकता है। इस प्रक्रिया में आपके इलाके के विद्युत वितरण संभाग के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है, वहां बिजली मीटर के लिए आवेदन करने का विकल्प मिलेगा जिस पर क्लिक करके आप अपने घर के बिजली मीटर के लिए आवेदन कर सकते है।

हर राज्य के लिए अलग-अलग विद्युत वितरण संभाग तय किए गए है। कुछ राज्य में दो या दो से अधिक विद्युत वितरण संभाग मौजूद है, जिनके अधिकारिक वेबसाइट का इस्तेमाल करके आप अपने घर में बिजली मीटर लगवा सकते है। 

बिजली मीटर में 1 यूनिट कितना होता है?

बिजली मीटर में एक यूनिट का मतलब 1 किलो वाट होता है। बिजली की खपत को वाट में मापा जाता है। 1 किलो वाट का मतलब 1000 वाट होता है। आमतौर पर घर में लाइट और पंखा जैसी कुछ साधारण चीजों के लिए 1000 वाट बिजली काफी होती है।

एक यूनिट बिजली खपत का मतलब 1 किलो वाट प्रति घंटा होता है। इसका मतलब 1000 वाट का कोई उपकरण अगर 1 घंटे तक इस्तेमाल करते है, तो उससे होने वाली बिजली खपत को एक यूनिट बिजली खपत कहा जाता है।  

Also Read: कैसे लें कृषि के लिए बिजली कनेक्शन

1 किलोवाट में कितना बिल आता है?

अगर किसी घर में 1000 वाट के उपकरण 1 घंटे तक चलते हैं तो एक यूनिट बिजली खपत होती है इस तरह 1 महीने में कितनी यूनिट बिजली खपत हुई है उसके आधार पर बिजली बिल तय किया जाता है। 

अगर 1000 वाट का कोई उपकरण 1 घंटे तक चलता हैं तो एक यूनिट बिजली खपत बनता है, और अगर आप 1 यूनिट से 50 यूनिट तक बिजली खपत करते है तो ₹3.75 पैसे प्रति यूनिट के दर से बिजली बिल बनाया जाता है। अगर आप 51 यूनिट से 100 यूनिट तक बिजली खपत करते है तो ₹4.35 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली बिल बनता है। वहीं अगर आप 101 से 300 यूनिट तक बिजली खपत करते है तो ₹5.60 पैसे प्रति यूनिट और अगर आप 300 यूनिट से ज्यादा बिजली खपत करते है ₹6 प्रति यूनिट की दर से बिजली बिल बनाया जाता है। 

बिजली मीटर कैसे लगा सकते हैं 

बिजली मीटर आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों तरीके से लगा सकते हैं जिसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं 

 ऑनलाइन बिजली मीटर कैसे लगाएंगे 

  • सबसे पहले अपने राज्य के विद्युत विभाग के ऑफिशल पोर्टल पर जाना होगा
  • होम पेज पर पहुंच जाएंगे
  • यहां पर न्यू कनेक्शन का एक विकल्प दिखाई पड़ेगा उस पर क्लिक करना है
  • आपके सामने आवेदन पत्र ओपन होगा
  • यहां पर जो जानकारी पूछी जाएगी उसका विवरण देंगे
  • अब आपको आवश्यक डॉक्यूमेंट  अपलोड करेंगे।
  • इसके बाद नया मीटर लगाने का आवेदन शुल्क यहां पर जमा करना होगा।
  • आवेदन शुल्क जमा करने के बाद आपको रसीद में जरूर प्राप्त करनी चाहिए।
  • अब आपको आवेदन पत्र जमा करना होगा।
  • फिर विद्युत विभाग के अधिकारी आपके द्वारा जमा किए गए आवेदन पत्र का वेरिफिकेशन करेंगे
  • कुछ दिनों के भीतर आपके घर में बिजली मीटर लगा दिया जाएगा
  • इस प्रकार आप बिजली का नया मीटर लगा सकते हैं। 

ऑफलाइन बिजली मीटर कैसे लगाएंगे

ऑफलाइन बिजली मीटर लगाने के लिए सर्वप्रथम आपको नजदीकी बिजली विभाग के दफ्तर जाना होगा वहां पर जाकर आपको बिजली मीटर लगाने का आवेदन पत्र प्राप्त होगा। उसके बाद जो भी जानकारी आपसे मांगी जाएगी उसका विवरण देंगे उसके उपरांत आवश्यक डॉक्यूमेंट अपने आवेदन पत्र के साथ अटैच कर बिजली विभाग में जमा कर देंगे। इसके बाद बिजली के कर्मचारी आपके आवेदन का वेरिफिकेशन करेंगे और कुछ चीजों के भीतर आपके घर पर आकर बिजली का मीटर लगा देंगे।

FAQ’s: Bijli Meter Charge

Q. बिजली मीटर लगवाने का कितना चार्ज होता है?

अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग बिजली मीटर लगवाने का चार्ज होता है। बिहार में 5 किलोवाट का लोड कनेक्शन लेने पर ₹4000 और 10 किलो वाट का लोड कनेक्शन लेने पर ₹8000 सिक्योरिटी मनी के रूप में देना पड़ता है। 

Q. एक यूनिट का बिजली बिल कितना होता है?

एक यूनिट से 50 यूनिट तक बिजली खपत करने पर ₹3.65 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली बिल पे किया जाता है। 

Q. बिजली मीटर कैसे लगवा सकते हैं?

बिजली मीटर लगवाने के लिए आपको विद्युत वितरण संभाग के अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर बिजली मीटर के लिए आवेदन करना होगा 7 दिन के अंदर संभाग के लोग आपके घर आकर बिजली मीटर लगा देंगे। 

Q. अगर मेरा बिजली का मीटर खराब है तो क्या होगा?

Ans. अगर बिजली का मीटर खराब हो गया है तो आपको तुरंत इस बात की सूचना बिजली अधिकारी को देनी चाहिए ताकि सही वक्त पर मीटर की जांच की जा सके।  इससे आप अधिक बिजली बिल देने से बच पाएंगे

Q. बिजली की यूनिट कैसे निकालते हैं?

Ans. बिजली मीटर के डाटा को देखकर यूनिट निकाला जाता है. उदाहरण के लिए यदि आपने 1000 वाट उर्जा की खपत की है, इसका मतलब है क्या आपने एक यूनिट बिजली खर्च की है  उसके अनुसार ही आपका बिजली बिल आएगा

Q. घरेलू बिजली मीटर कितने वाट का होता है?

Ans. घरेलू बिजली मीटर एक से दो किलो वाट का होता है. उसके अनुसार ही आपका बिजली बिल बिजली विभाग के द्वारा प्रत्येक महीने भेजा जाता हैं।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको बिजली मीटर चार्ज कितना होता है (Bijli Meter Charge) के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है। इसलिए हमने यह समझाने का प्रयास किया कि बिजली मीटर का चार्ज कितना होता है और कैसे बिजली बिल बनाया जाता है।

अगर हमारे द्वारा साझा की गई जानकारियों को पढ़ने के बाद आप बिजली मीटर कैसे लगाया जाता है और बिजली बिल से जुड़ी सभी जानकारियों को समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथी अपने सुझाव और विचार कमेंट में बताना ना भूले। 

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easybhulekh.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *